इश्क

वक्त बेवक्त
बेहद तड़पाये
ये इश्क इश्क
©आरती परीख १८.२.२०१८

Advertisements

परीक्षण

अपने खफा
वक्त भी है बेवफा
खुद को ढूँढ
©आरती परीख १८.२.२०१८

सुहाना शमा

Clicked in-between evening walk..

बिखर रही
सूरज की किरणें
सुहानी शाम
©आरती परीख

बीज

अहं बो रहे
औकात से अधिक
मान सम्मान
©आरती परीख १८.२.२०१८

वक्त

वक्त का मार
क्षीण होता ही चला
वक्त के साथ
©आरती परीख १८.२.२०१८

बुलंदी

बुलंदी को छू
मतलबी हो गया
बुलंद दिल
©आरती परीख १८.२.२०१८

चूंबन

आसमां धरा
अलौकिक चूंबन
ओस की बूंदें
©आरती परीख १७.२.२०१८