डायरी

रंगीन यादें
डायरी में संभाले
काली सी शाही
© आरती परीख १२.१२.२०१८

Advertisements

अंदाज़

अपने
अंदाज़ से
कुछ कुछ
नजर अंदाज़
करते गए…

मजेदार
हो गई…

यही जिंदगी।

Think Positive

बदला नहीं पर बदलाव के बारे में सोचते है,
चलो; हर एक संबंध में कुछ अच्छा खोजते है।
©आरती परीख

એકલતા

એકાંત ભાળી
વાતોમાં મશગુલ
હું ને દરિયો
©આરતી પરીખ

जिंदा है..

ठोकर खाये,
गिरना..
उठना..
फिर से,
चलते ही रहना..
“जिंदा है।”
_पूरवार करने का
यही है
सबूत!
©आरती परीख २७.११.२०१८

नम्रता

कठिन काम
चोटी पर पहुंच
नम्र रहना
_आरती परीख २१.११.२०१८

*चोटी=शिखर

अस्त

ढल जायेगा
मध्याह्न सर चढा
अहं का सूर्य
_आरती परीख २१.११.२०१८