Archives

प्रभात

कूकड कूक

सूरज सुलगाये

धूप अँगीठी

© आरती परीख २५.५.२०१७

मुर्गे की बांग

आँगन में नाचती

कोमल धूप 

*****

भोर की बेला

अंबर में घुमेगा

सूरज छैला

© आरती परीख २५.५.२०१७