Archive | June 26, 2020

मजबूर

बादल को बरसने की चाह।
पर,
कहाँ और कितना
बरसना है..
वो
हवा तय करती है।

_आरती परीख २६.६.२०२०