Archive | June 16, 2020

सागर/सिंधु

सरक रही
नीले ख्वाबोंकी कश्ती

मन सागर

बोझिल रिश्ते
सैलाब उमड़ता

मन सागर

उमड़ रहा
वैचारिक सैलाब

मन सागर

गोता लगाये
सागर में सूरज
आसमां लाल
©आरती परीख

करीबी रिश्ते

रिश्ते बिछड़े
हमें भीगाती रही
उनकी यादें
©आरती परीख १६.६.२०२०

કોરાકટ્ટ

બાંધેલી પાળ
ધસમસતી નદી
કિનારા કોરાં
~ આરતી પરીખ ૧૬.૬.૨૦૨૦