Archive | October 23, 2019

छल

सुख दुःख को
बखूबी छूपा रही
होठों की हंसी
_आरती परीख २३.१०.२०१९

बूढापा

आयें दिन ही
दस्तक देती उम्र
उमडे यादें
_आरती परीख २३.१०.२०१९