Archive | January 30, 2019

अस्त

अंधार छाया
रफूचक्कर हुआ
अपना साया
©आरती परीख ३०.१.२०१९

Advertisements

अभिलाषा

टिमटिमाती
अखियोँ के झरोखें
अभिलाषाएँ
©आरती परीख ३०.१.२०१९