Archive | July 18, 2018

यह हिन्दुस्तान है मेरी जान

दो वक्तकी रोटी कमाना मुश्किल लगा,
घरसंसार चलाना नामुमकिन लगा,
घरबार छोड़ दिया..
आठ दस साल गुजर गए..
अब वो,
आलीशान बँगले में रहता है,
लिमोजीन गाड़ी में घुमता है,
आये दिन…
संमेलन मुशायरा करता है,
सारे जहाँ को….

उपदेश देता रहता है,
योगकी बातें भी समजाता है,
.
.
.
.
योगी बाबा जो बन बैठा है!
©आरती परीख १८.७.२०१८