Archive | May 30, 2018

रिश्ते नाते

नसीबवर
लम्हें बांटते फिरे
अमीर रिश्ते
*****
जीवन थाल
रिश्ते तोड़े सँवारे
शब्द जायका
*****
सुकून छिने
इर्द-गिर्द घूमते
खोखले रिश्ते
*****
बोझिल रिश्ते
सैलाब उमड़ता
मन सागर
*****
कंक्रीट वन
हरियाली निगले
रिश्ते बिछड़े
*****
रिश्तें-नातें
तोडने में माहिर
गिला-शिकवाँ
*****
भीड ही भीड
भिड गए रिश्ते भी
अकेली जान

*****
जीवन रेल
जुड़ते या छूटते
दिलेरी रिश्ते
*****
छूटे न तूटे
अजीब कश्मकश
लहू के रिश्ते
*****
रिश्ते चहके
ठंडी गर्म महकें
काफ़ेटेरिया
*****
जिंदा रखती
बोलती शिकायतें
दिल के रिश्ते
*****
जुड़ के रखें
अनगिनत रिश्ते
मीठे दो बोल

©आरती परीख