Archive | February 6, 2018

संध्या

स्वर्णिम संध्या
अलौकिक नजारा
पर्वत कंघा
© आरती परीख ६.२.२०१८

बसंत

बसंत रुप
फूलों पर नाचती
मृदु सी धूप
© आरती परीख ६.२.२०१८

संध्या

दिवस लुप्त
समुद्र में घुलती
केसरी धूप
©आरती परीख ६.२.२०१८

संध्या

संध्या स्वरुप
नदियाँ में नहाती
फकीरी धूप
© आरती परीख ६.२.२०१८

ओस बूंदें

चमक रहा-
तृण तृण में ओस
ओस में सूर्य
©आरती परीख ६.२.२०१८

हवा

निगोडी हवा
खिंच कर ले गई
काले बादल
©आरती परीख ६.२.२०१८

सूर्यदेव

ओस में कैद
रवि चमक रहा-
तृण तृण में
© आरती परीख ६.२.२०१८

धूप

तृण तृण से
ओस मोती चुराये-
लुटेरी धूप
©आरती परीख ६.२.२०१८